मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए

उ0प्र0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए

एयरपोर्ट आदि पर इस सम्बन्ध में विशेष सावधानी बरती जाए नए स्ट्रेन के दृष्टिगत कोविड उपचार के सभी जरूरी इन्तजाम सुनिश्चित किए जाएं कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को ध्यान में रखते हुए प्रदेश की प्रयोगशालाओं को उच्चीकृत किया जाए चिकित्सा शिक्षा विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग प्रोएक्टिव होकर टेक्नोलॉजी को अपडेट करें वायरस के नए स्वरूप के सम्बन्ध में प्रदेश में जरूरी विशेषज्ञता विकसित किए जाने पर बल विदेशों से आए लोगों की सूची बनाकर उनकी टेस्टिंग सुनिश्चित कराई जाए, टेस्टिंग का परिणाम आने तक ऐसे व्यक्तियों को नियमानुसार होम आइसोलेशन में रखा जाए कोविड-19 की रिकवरी दर में वृद्धि के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस की व्यवस्था को प्रभावी रखा जाए कोविड चिकित्सालयों में औषधियों , मेडिकल उपकरण तथा ऑक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता रहे टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश , रैपिड एन्टीजन टेस्ट की संख्या में वृद्धि की जाए तृतीय चरण बनने वाले समस्त 14 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की कार्यवाही को गति प्रदान करने के निर्देश |

Chief Minister Yogi directed to take extra vigil in the state in view of new strains of corona virus

लखनऊ : 24 दिसम्बर, 2020 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा है कि एयरपोर्ट आदि पर इस सम्बन्ध में विशेष सावधानी बरती जाए । उन्होंने नए स्ट्रेन के दृष्टिगत कोविड उपचार के सम्बन्ध में सभी जरूरी इन्तजाम सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं । मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को ध्यान में रखते हुए प्रदेश की प्रयोगशालाओं को उच्चीकृत किए जाने के निर्देश दिए हैं ।

उन्होंने कहा कि कोरोना के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत चिकित्सा शिक्षा विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग प्रोएक्टिव होकर टेक्नोलॉजी को अपडेट करें । उन्होंने वायरस के नए स्वरूप के सम्बन्ध में प्रदेश में जरूरी विशेषज्ञता विकसित किए जाने पर बल दिया है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विदेशों से आए लोगों की सूची बनाकर उनकी टेस्टिंग सुनिश्चित कराई जाए । टेस्टिंग का परिणाम आने तक ऐसे व्यक्तियों को नियमानुसार होम आइसोलेशन में रखा जाए । मुख्यमंत्री जी ने कोविड -19 की रिकवरी दर को बढ़ाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि रिकवरी दर में वृद्धि के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस की व्यवस्था को प्रभावी बनाकर रखा जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड चिकित्सालयों में औषधियों, मेडिकल उपकरण तथा ऑक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता प्रत्येक दशा में बनी रहे ।

उन्होंने टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि रैपिड एन्टीजन टेस्ट की संख्या में वृद्धि की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार मेडिकल कॉलेजों की स्थापना को प्राथमिकता प्रदान कर रही है । उन्होंने तृतीय चरण में बनने वाले समस्त 14 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की कार्यवाही को गति प्रदान करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस सम्बन्ध में गम्भीरता से प्रयास किए जाएं । उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी स्तर पर शिथिलता बरदाश्त नहीं की जाएगी ।

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , मुख्य सचिव श्री आर0के0तिवारी , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह , अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ ० रजनीश दुबे , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , प्रमुख सचिव आवास श्री दीपक कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

Leave a Comment