जालौन: टीबी मरीजों की खोज में वृद्धाश्रम व जिला कारागार पहुँचीं टीमें, टीबी हारेगा-देश जीतेगा अभियान के तहत घर-घर भी पहुँच रही टीमें

टीबी मरीजों की खोज में वृद्धाश्रम व जिला कारागार पहुँचीं टीमें, टीबी हारेगा – देश जीतेगा अभियान के तहत घर-घर भी पहुँच रही टीम

जालौन, 29-दिसंबर-2020 राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के टीबी हारेगा – देश जीतेगा अभियान के तहत क्षय रोग विभाग की टीमें सक्रिय होकर काम कर रही हैं । 26 दिसंबर से शुरु हुए इस अभियान के पहले चरण में वृद्धाश्रम, जिला कारागार, अंध विद्यालय, शेल्टर होम, नवोदय विद्यालय, मदरसा आदि में जाकर सर्वे कर संभावित क्षय रोगियों का पता लगाना है।

शहर मुख्यालय पर बनाई गई टीम के सदस्य सीनियर उपचार पर्यवेक्षक राजीव उपाध्याय, संजय अग्रवाल और आलोक मिश्रा ने वृद्धाश्रम जाकर बुजुर्गों की स्क्रीनिंग की, जिसमें 55 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। प्राथमिक लक्षणों के आधार पर इनमें से आठ के बलगम की जांच की जा रही है। इसके बाद टीम ने जिला कारागार में भी जाकर विचाराधीन बंदियों की स्क्रीनिंग की। दो दिवसीय सर्वे के दौरान टीम ने 45 महिला बंदी और 25 नाबालिग बंदियों की जांच की, जिसमें आठ की सैंपलिंग की गई।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ सुग्रीव बाबू ने बताया कि 26 दिसंबर से 25 जनवरी तक चलने वाले इस अभियान को तीन चरणों में चलाया जा रहा है। पहला चरण 26 दिसंबर से एक जनवरी तक चलेगा। दूसरा चरण में 2 जनवरी से 12 जनवरी तक और तीसरा चरण 13 जनवरी से 25 जनवरी तक चलेगा। अभियान के दौरान प्रारम्भिक लक्षणों के आधार पर जितने भी लोगों की टीबी की जांच होगी, उनकी कोरोना संबंधी जांच भी कराई जाएगी। ब्लाक स्तर पर भी टीमें काम कर रही हैं । सभी ब्लाकों में एक – एक टीम बनाई गई है और उसे सक्रिय टीबी रोगियों का पता लगाकर समाज में टीबी रोग की रोकथाम करनी है। अभियान के दौरान 3.80 लाख जनसंख्या में जाकर सर्वे किया जाना है। इस समय 1306 मरीजों का इलाज जारी हैा

Leave a Comment