जालौन: स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने खोजे 42 नए क्षय रोगी, टीबी हारेगा, देश जीतेगा अभियान के दो चरण पूरे, तीसरा शुरु -जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुग्रीव बाबू

स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने खोजे 42 नए क्षय रोगी, टीबी हारेगा, देश जीतेगा अभियान के दो चरण पूरे, तीसरा शुरु

जालौन, 13 जनवरी 2021 टीबी हारेगा देश जीतेगा के एक्टिव केस फाइंडिंग (एसीएफ) अभियान के दो चरण पूरे हो गए है। इसमें 42 नए टीबी मरीज मिले है। इन सभी मरीजों का पंजीकरण कर उनका इलाज शुरू करने का काम शुरु हो गया है। अभियान का बुधवार से तीसरा चरण शुरु हो गया है। जो 25 जनवरी तक चलेगा।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुग्रीव बाबू ने बताया कि एक महीने का अभियान 26 दिसंबर से शुरु हुआ था। इसमें पहले चरण में 26 दिसंबर से एक जनवरी तक जिला कारागार, वृद्धाश्रम, मदरसा, अंध विद्यालय जैसे स्थानों पर क्षय रोग विभाग की टीम ने अभियान चलाया था। अभियान में जिला कारागार में एक संभावित मरीज मिला था, इसकी जांच होने के बाद उसे टीबी रोग की पुष्टि होने पर उसका इलाज शुरू कर दिया गया है। इसके बाद 2 जनवरी से 12 जनवरी तक दस दिवसीय डोर टू डोर अभियान चलाया गया। इसमें 41 नए मरीज खोजे गए। सभी मरीजों की जांच कराने के बाद क्षय रोग की पुष्टि होने पर उनका इलाज भी शुरु कर दिया गया।

डॉ. सुग्रीवबाबू ने बताया कि तीसरा चरण 13 जनवरी यानी बुधवार से शुरु हो गया है। यह अभियान 25 जनवरी तक चलेगा। इस अभियान में प्रा‍इवेट सेक्टर के डॉक्टरों और मेडिकल स्टोर संचालकों, पैथालॉजी आदि स्थानों पर विभागीय टीम नए मरीजों को खोजने काम करेगी। इसके लिए जिले में नौ टीमें बनाई गई है। जो अलग अलग ब्लाकों में जाकर प्राइवेट सेक्टर के टीबी अभियान से जुड़े लोगों से संपर्क कर उनसे रोगियों के बारे में जानकारी लेंगी और उन्हें विभागीय योजनाओं का लाभ दिलाने का काम करेंगी। उनका निक्षय पोर्टल पर पंजीकरण कर उन्हें पांच सौ रुपये प्रोत्साहन भत्ता दिलाने का काम किया जाएगा।

जिला प्राइवेट पब्लिक मिक्स कोआर्डिनेटर आलोक मिश्रा और जिला कार्यक्रम समन्वयक नुरुल हुदा ने बताया कि कोंच, माधौगढ़, जालौन, कदौरा, नदीगांव, कुठौंद, बाबई स्वास्थ्य केंद्रों के लिए माइक्रो प्लान बना लिया गया है। संबंधित टीम को भी अलर्ट कर दिया गया। अधिक से अधिक क्षय रोगी खोजकर टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान सफल बनाया जाएगा।

Leave a Comment