जालौन: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का गोल्डन कार्ड विहीन परिवारों को मिलेगा आयुष्मान का लाभ

गोल्डन कार्ड विहीन परिवारों को मिलेगा आयुष्मान का लाभ,
ग्रामीण क्षेत्रों में 15 दिसम्बर से विशेष अभियान चलाकर बनेगा गोल्डनकार्ड,
ग्रामीण क्षेत्रों के गोल्डनकार्ड विहीन परिवार ही लक्ष्य,
आशा को मिलेगा 5 रुपए प्रति परिवार प्रोत्साहन राशि,
प्रतिदिन अभियान में बनाए जा रहे गोल्डनकार्ड की प्रगति करेंगे समीक्षा
जालौन 11 दिसंबर 2020 आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के ऐसे परिवार जिसमें एक भी सदस्य के गोल्डनकार्ड नहीं बना हैं। ऐसे गोल्डनकार्ड विहीन परिवार का गोल्डनकार्ड बनाने के लिए अभियान चलाने का निर्देश अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया है। शासनादेश के अनुसार यह अभियान 15 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक चलेगा।
जनपद में आयुष्मान योजना के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. आशीष कुमार झा ने बताया कि 15 दिसम्बर से जनपद की सभी आशा, संगिनी व एएनएम अपने क्षेत्रों के सभी लाभार्थी परिवारों के किसी एक सदस्य का गोल्डनकार्ड नजदीक के जन सुविधा केंद्र या लोकवाणी केंद्र पर जाकर बनवाएगी। इस काम मे बीसीपीएम व बीपीएम अपने ब्लॉक के चिकित्सा अधीक्षक व प्रभारी चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में काम करेंगे। जन सुविधा केंद्रों पर गोल्डनकार्ड बनवाने के लिए लाभार्थी को प्रति गोल्डनकार्ड 30 रुपए का शुल्क देना होगा। परिवार के सभी सदस्यों का अलग अलग गोल्डनकार्ड बनेगा। डॉ आशीष ने बताया कि जिस तरह मतदान के समय सभी लाभार्थियों का अपना एक मतदाता पहचान पत्र होता है, ठीक उसी तरह देश के किसी भी पंजीकृत अस्पताल में योजनांतर्गत उपचार हेतु सभी का एक अलग गोल्डनकार्ड होना भी अनिवार्य है।
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत समाज के गरीब व वंचित तबकों को प्रति वर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपए की सीमा तक निशुल्क उपचार की सुविधा अनुमान्य की गई है। जिसका लाभ जनपद समेत प्रदेश व देश के किसी भी पंजीकृत राजकीय व निजी चिकित्सालय में लिया जा सकता है।
आशा बहुओं को मिलेगी प्रोत्साहन राशि
डीपीसी डॉ आशीष ने जानकारी दी कि इस अभियान के दौरान बनाये गए गोल्डनकार्ड के लिए संबंधित आशा को प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। गोल्डनकार्ड विहीन परिवार में कम से कम एक सदस्य का गोल्डनकार्ड बनवाने पर आशा को 5 रुपए प्रति परिवार की प्रोत्साहन राशि भी देय होगी। जबकि गोल्डनकार्ड विहीन परिवार में एक से अधिक सदस्यों का कार्ड बनवाने पर आशा को 10 रुपए प्रति परिवार की दर से प्रोत्साहन धनराशि दी जाएगी। इस संबंध में बीसीपीएम अपने अपने ब्लॉक में बनाये जा रहे गोल्डनकार्ड की प्रतिदिन सूचना जिला स्तरीय अधिकारियों को देंगे। इस विशेष अभियान की अवधि में आशा कार्यकत्री अपने संबंधित गांव के गोल्डनकार्ड विहीन परिवारो में संपर्क कर उन्हें आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए नजदीक के जन सुविधा केंद्र पर ले जाकर उनका कार्ड बनवाना सुनिश्चित करेगी।
अभियान में 45161 लाभार्थी परिवार के गोल्डनकार्ड बनाने का लक्ष्य
जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ आशीष ने बताया कि जनपद में ग्रामीण क्षेत्रों के 45161 पात्र परिवारो की सूची उत्तर प्रदेश शासन से उपलब्ध करवाई जा चुकी है। जिसमें डकोर ब्लॉक के 7391, जालौन ब्लॉक के 4966, कदौरा ब्लॉक के 8040, कोंच ब्लॉक के 3480, कुठौंद ब्लॉक के 5326, माधौगढ़ ब्लॉक के 4610, महेबा ब्लॉक के 3520, नदीगांव ब्लॉक के 4356, रामपुरा ब्लॉक के 3472 लाभार्थी परिवार ऐसे हैं जिनके परिवार के किसी भी सदस्य का गोल्डनकार्ड अभी तक नहीं बना है। इस अभियान में ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करते हुए अधिक संख्या में लाभार्थी परिवारों के गोल्डनकार्ड बनवाए जाएंगे।

Leave a Comment